Home National मोदी 3.0 कैबिनेट में मंत्री पद के लिए मांझी को क्यों नहीं आया कॉल? शपथ से पहले जीतनराम मांझी इतने निराश क्यों है?

मोदी 3.0 कैबिनेट में मंत्री पद के लिए मांझी को क्यों नहीं आया कॉल? शपथ से पहले जीतनराम मांझी इतने निराश क्यों है?

by Rashmi Rani
0 comment
Narendra Modi Oath ceremony

Narendra Modi Oath ceremony: जीतन राम मांझी अपनी पार्टी HAM की तरफ से इकलौते सांसद हैं. माना जा रहा था कि वो नरेन्द्र मोदी की नई कैबिनेट में शामिल होंगे, लेकिन मांझी ने खुद ही इस पर सवाल उठा दिए.

09 June, 2024

Narendra Modi Oath ceremony: नरेन्द्र मोदी रविवार को शाम 7:15 बजे राष्ट्रपति भवन में आयोजित समारोह में प्रधानमंत्री पद की शपथ लेंगे. ऐसे में अब मोदी सरकार में शामिल हो रहे मंत्रियों को लेकर चर्चा तेज हो गई है. शपथ ग्रहण समारोह से पहले नरेन्द्र मोदी ने संभावित कैबिनेट मंत्रियों और सांसदों को चाय पर बुलाया. ऐसा कहा जाता है कि नरेन्द्र मोदी उन्हीं लोगों को चाय पर बोलाते हैं, जिन्हें वे अपने मंत्रिमंडल में शामिल करना चाहते हैं. लेकिन चौंकाने वाली बात थी कि मोदी की चाय पार्टी में जीतन राम मांझी को बुलावा नहीं था. इसी के बाद से हिंदुस्तानी अवाम मोर्चा के अध्यक्ष जीतन राम मांझी को लेकर कई तरह के कयास लगाए जाने लगे. इस सवाल पर खुद जीतन राम मांझी ने कहा कि, ‘नई सरकार के मंत्रीमंडल में शामिल करने के लिए BJP की तरफ से कोई भी फोन नहीं आया है .’

शपथ ग्रहण समारोह के लिए दिल्ली में हैं मांझी

जीतन राम मांझी बिहार की गया सीट से चुनाव जीते हैं. चुनावी नतीजों के बाद जब NDA की पहली बैठक हुई, उसमें मांझी मोदी के साथ मंच पर थे. उसके बाद से ही वो दिल्ली में बने हुए हैं. लेकिन शपथ ग्रहण के दिन जब उन्हें कोई कॉल नहीं आया, तो उन्होंने कहा, ‘मेरी कोई इच्छा नहीं है. अभी कॉल नहीं आया है.’

पहली बार सांसद बने हैं 80 साल के मांझी

बिहार के मुख्यमंत्री रह चुके जीतन राम मांझी 2014 और 2019 में भी लोक सभा चुनाव लड़ चुके हैं. लेकिन दोनों बार उन्हें हार का सामना करना पड़ा. इस बार गया सीट से उन्हें 4,94,960 वोट मिले, जबकि उनके निकटतम प्रतिद्वंद्वी RJD के कुमार सर्वजीत को 3,93,148 वोट मिले थे. लोक सभा चुनाव से पहले वो गया जिले की इमामगंज सीट से विधायक हैं. इमामगंज औरंगाबाद लोकसभा सीट का हिस्सा है.

मंत्री पद के लिए किनको गया फोन?

अमित शाह
मनसुख मंडाविया
अश्विनी वैष्णव
निर्मला सीतारमण
पीयूष गोयल
जितेंद्र सिंह
शिवराज सिंह चौहान
हरदीप सिंह पुरी
एचडीके
चिराग पासवान
नितिन गडकरी
राजनाथ सिंह
ज्योतिरादित्य सिंधिया
किरन रिजिजू
गिरिराज सिंह
गजेंद्र सिंह शेखावत
जयंत चौधरी
अन्नामलाई
एमएल खट्टर
सुरेश गोपी
धर्मेंद्र प्रधान
रामनाथ ठाकुर (राज्यसभा)
जी किशन रेड्डी
बंदी संजय
अर्जुन राम मेघवाल
प्रह्लाद जोशी
आजसू सांसद चंद्रशेखर चौधरी
डॉ. चंद्रशेखर पेम्मासानी
राम मोहन नायडू किंजरापु
रवनीत सिंह बिट्टू
जितिन प्रसाद
पंकज चौधरी
सीआर पाटिल
बीएल वर्मा
ललन सिंह
सोनोवाल
अनुप्रिया पटेल
प्रताप राव जाधव
अन्नपूर्णा देवी
रक्षा खडसे
अजय टम्टा
शोभा करंदलाजे
कमलजीत सहरावत
राव इंद्रजीत सिंह
राम दास अठावले
हर्ष मल्होत्रा

यह भी पढ़ें : दिल्ली में क्यों गहराया पानी का संकट? आतिशी बोलीं- अगर यही रहे हालात, तो पूरी दिल्ली बूंद-बूंद को तरसेगी

You may also like

Leave a Comment

Feature Posts

Newsletter

Subscribe my Newsletter for new blog posts, tips & new photos. Let's stay updated!

@2023 Live Times News – All Right Reserved.
Are you sure want to unlock this post?
Unlock left : 0
Are you sure want to cancel subscription?
-
00:00
00:00
Update Required Flash plugin
-
00:00
00:00