Home National दिल्ली HC ने ED से लालू के सहयोगी अमित कात्याल की अंतरिम जमानत याचिका पर जवाब मांगा, नौकरी घोटाले से जुड़ा है मामला

दिल्ली HC ने ED से लालू के सहयोगी अमित कात्याल की अंतरिम जमानत याचिका पर जवाब मांगा, नौकरी घोटाले से जुड़ा है मामला

by Live Times
0 comment
delhi HC response ED interim bail plea ​lalu aide amit katyal land for job scam

Land For Job Scam Case : कत्याल की तरफ से पेश वरिष्ठ वकील कपिल सिब्बल ने कहा कि आरोपी ने बेरिएट्रिक सर्जरी करवाई है और 10 किलो वजन कम किया.

03 June, 2024

Land For Job Scam Case : दिल्ली उच्च न्यायालय ने सोमवार को RJD प्रमुख लालू प्रसाद यादव (Lalu Prasad Yadav) के करीबी सहयोगी अमित कात्याल (Amit Katyal) की याचिका पर प्रवर्तन निदेशालय (ED) से जवाब मांगा है, जिसमें कथित जमीन के बदले नौकरी घोटाले से जुड़े मनी लॉन्ड्रिंग मामले में चिकित्सा आधार पर अंतरिम जमानत की मांग की गई है. अदालत ने संबंधित जेल अधीक्षक को कात्याल के आहार चार्ट के साथ एक रिपोर्ट दाखिल करने को भी कहा है और मामले को 7 जून को आगे की सुनवाई के लिए सूचीबद्ध किया.

अमित कात्याल ने करवाई बेरिएट्रिक सर्जरी

कात्याल की तरफ से पेश वरिष्ठ वकील कपिल सिब्बल ने कहा कि आरोपी ने बेरिएट्रिक सर्जरी करवाई है और 10 किलो वजन कम किया है. सिब्बल ने कहा कि उन्हें आगे इलाज कराने की जरूरत है जो तिहाड़ जेल में उपलब्ध नहीं है जहां वह बंद हैं. न्यायाधीश ने पूछा कि कात्याल ने छुट्टियों के दौरान राहत के लिए उच्च न्यायालय का दरवाजा क्यों खटखटाया, जबकि उनकी सर्जरी पहले ही हो चुकी थी. उनके वकील ने कहा कि उन्होंने अब उच्च न्यायालय का रुख किया है क्योंकि हाल ही में निचली अदालत ने उनकी जमानत याचिका खारिज कर दी थी.

PMLA के मामले में ED ने किया था गिरफ्तार

कात्याल को ईडी ने 11 नवंबर, 2023 को धन शोधन निवारण अधिनियम (PMLA) के विभिन्न प्रावधानों के तहत गिरफ्तार किया था. जांच एजेंसी ने आरोप लगाया है कि कात्याल ने यूपीए 1 सरकार में रेल मंत्री रहते हुए RJD प्रमुख की ओर से नौकरी के इच्छुक कई उम्मीदवारों से जमीन हासिल की थी. ED ने दावा किया है कि कात्याल एके इंफोसिस्टम्स प्राइवेट लिमिटेड नाम की कंपनी के निदेशक थे, जिसे रेलवे में ग्रुप डी की नौकरी के इच्छुक कई उम्मीदवारों ने भारी रियायती दरों पर अपनी जमीनें बेचीं थीं. फिर ये भूमि पार्सल प्रसाद के परिवार के कुछ सदस्यों को हस्तांतरित कर दिए गए, जो इस मामले में भी आरोपी हैं.

ये भी पढ़ें- Lok Sabha Exit Poll 2024 : सोनिया गांधी और अखिलेश यादव समेत विपक्षी नेताओं ने कहा – ‘एग्जिट पोल’ नहीं ‘BJP पोल’ है यह

You may also like

Leave a Comment

Feature Posts

Newsletter

Subscribe my Newsletter for new blog posts, tips & new photos. Let's stay updated!

@2023 Live Times News – All Right Reserved.
Are you sure want to unlock this post?
Unlock left : 0
Are you sure want to cancel subscription?
-
00:00
00:00
Update Required Flash plugin
-
00:00
00:00